85
Oct ’23 – Week 2

Students in Pritha Ji’s class speak in different dialects. She realised that they were facing problems while communicating with each other. According to you, what could Pritha Ji do in her class to solve this issue?

पृथा जी की कक्षा में विद्यार्थी अलग-अलग बोलियाँ बोलते हैं। उन्होंने महसूस किया कि उनकी कक्षा के विद्यार्थिओं को संवाद करने में परेशानी हो रही थी। आपको क्या लगता है कि पृथा जी इस मुद्दे के समाधान के लिए अपनी कक्षा में क्या कर सकती हैं?